लाल किला की यात्रा और इतिहास Travel of Red Fort and history

लाल किला की यात्रा Lal Kila ki Ytara

लाल किला की यात्रा की योजना मेरे दिमाग में काफी दिनों से थी। मै समय मिलने पर लाल किला की सैर करना चाहता था (lal kila ki yatra)। इस कारण समय मिलने पर लाल किला का इतिहास भी पढ़ता था।

लाल किला (red fort) का महत्व इसलिए भी अधिक है कि यह यूनेस्को द्वारा घोषित विश्व विरासत स्थल है और यह राष्ट्रीय महत्व की इमारत है।

प्रधानमंत्री स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस पर लाल किला Lal Qila की प्राचीर से देश को भाषण देते है और झंडारोहण करते है।

साथ ही देश की सेना के तीनों अंग जल सेना, थल सेना और वायु सेना अपने अपने शौर्य का प्रदर्शन करते है। हर राज्य से आई हुए झांकिया भी लोगो का मन मोह लेती है।

हम दो लोग थे रेड फोर्ट की यात्रा में मैं विकास गुप्ता और हमारे बड़े भाई शिवाजी गुप्ता। इस यात्रा में आगे बढ़ने से पहले हम लाल किला यानि रेड फोर्ट का इतिहास जान ले तो बेहतर होगा

लाल किला का इतिहास ( History of Red Fort )

लाल किला नई दिल्ली में चांदनी चौक के पास स्थित हैलाल किला मुगल बादशाह शाहजहां द्वारा बनवाया गया था। शाहजहां अपनी इमारतों और वास्तुकला प्रेम के लिए काफी प्रसिद्ध था।

दिल्ली का लाल किला बनने में 10 साल लगे इसका निर्माण सन 1638 में शुरू हुआ तथा 1648 में समाप्त हुआ। यह नाम इसके लाल बलुआ पत्थरों के कारण पड़ा जिसकी वजह से इसकी प्राचीर लाल रंग की है। इसके दो मुख्य आर्किटेक्ट यानी वास्तुकार थे।

शाहजहां ने जब यह किला बनवाया तो उन्होंने इस नगरी को नाम दिया शाहजहांनाबाद। यहां किला बनाने का मुख्य उद्देश शाहजहां द्वारा राजधानी का परिवर्तन करना था तब उनकी राजधानी आगरा हुआ करती थी जिसे बाद में दिल्ली स्थानांतरित किया गया था। यहां कई प्रमुख भवन है जैसे नक्कारखाना, खास महल, दीवान-ए-खास, दीवान-ए-आम, मोती मस्जिद और हयात बख्श बाग।

कभी लाल किला में विश्व प्रसिद्ध मयूर सिंहासन भी होता था जिसे नादिर शाह ने हमले के बाद हथिया लिया था। अंग्रेजों ने इसके कई बाग नष्ट कर दिए व अपनी सुविधा की दृष्टि से कई इमारतें भी बनवाई।
कुछ लोग इसे लाल कोट की पुरातन नगरी एवं किला बताते हैं जोकि 12 वीं सदी में पृथ्वीराज चौहान की राजधानी थी।

मेरी लाल किला की यात्रा ( lal kila ki yatra )

जब लाल किला की यात्रा ( Lal Qila ki yatra ) करने की हमारी योजना बनी उस समय हम ग्रीन पार्क मेट्रो स्टेशन के पास थे तो सबसे सुविधाजनक और किफायती साधन मेट्रो ही उपयुक्त जान पड़ा। फिर हमने चांदनी चौक के दो टिकट लिए जिसके लिए मैट्रो येलो लाइन पर चलती है।

करीब आधे घंटे में हम चांदनी चौक मेट्रो स्टेशन पहुंच गए। उफ्फ इस स्टेशन पर गजब की भीड़ थी स्टेशन के बाहर पहुंच कर ही हम इस भीड़ से थोड़ी निजात पा सके। यंहा से हमने ऑटो पकड़ा जिसका किराया 10 रुपये था और दूरी लगभग डेढ़ किमी।
दस मिनट उपरांत ही हम लाल किला के सामने खड़े थे। अंदर प्रवेश करने के लिए टिकट लगता है तो हमने दो लाल किला के टिकट लिये।

लाल किला के दो मुख्य प्रवेश द्वार है पहला लाहौरी दरवाजा और दूसरा दिल्ली दरवाजा। पर्यटकों को प्रवेश लाहौरी दरवाजे से मिलता है। दरवाजे से अंदर जाकर कुछ दूर चलने के पश्चात एक बाजार पड़ता जिसे छत्ता बाजार कहते है यह बाजार मुग़लो के समय से लगता रहा है। पहले यंहा कभी जीवनोपयोगी सामग्री बिकती थी अब कपड़े और हस्तशिल्प के सजाने वाले सामान मिलते है।

इससे आगे बढ़कर हम खुले मैदान में आ जाते है जंहा विभिन्न प्रकार की इमारतें है। परिसर में जगह जगह विभिन्न प्रकार के बाग है जोकि काफी सुंदर है।जिसके बारे में हम विस्तार से ना बता कर लाल किला की फोटो द्वारा बातें करेंगे।

लाल किला कैसे पहुंचे (how to reach Red Fort)

नई दिल्ली पहुँच कर लाल किला के तमाम साधन सुलभता से उपलब्ध है जिसमें अगर आराम और किफायत की बात करे तो मेट्रो ट्रेन सबसे उपयुक्त साधन है इसका सबसे नजदीकी स्टेशन है चांदनी चौक। चांदनी चौक मेट्रो स्टेशन पहुंचने के लिए आपको येलो लाइन मेट्रो पर सफर करना पड़ेगा। चांदनी चौक से लाल किला की दूरी लगभग एक किलोमीटर है जोकि आप पैदल या फिर आटोरिक्शा से तय करसकते है। इसके अतिरिक्त बस सेवा भी उपलब्ध है।

तो यह थी मेरी लाल किला की यात्रा और संक्षिप्त जानकारी जो मैंने आपके सामने रखी है। यह जानकारी आपको कैसी लगी व आपके जो सुझाव हो और अगर कोई गलती हो मेरे द्वारा तो आप टिप्पणी द्वारा मुझे अवश्य बताएं।

यह पढे : कालका मंदिर की यात्रा

कमल मंदिर (लोटस टेम्पल) की यात्रा

रेड फोर्ट, यूनेस्को विश्व धरोहर स्थल, रेड फोर्ट का इतिहास, लाल किला, लाल किला की यात्रा, लाल किला का इतिहास, रेड फोर्ट की यात्रा, Res Fort, History of Red Fort
लाल किला के बाहर का बोर्ड
रेड फोर्ट, रेड फोर्ट का मुख्य प्रवेश द्वार, लाल किला का मुख्य गेट, लाहौर दरवाजा
लाल किला का लाहौर दरवाजा

लाल किला, लाल किला का हमाम भवन, रेड फोर्ट, रेड फोर्ट का हमाम, लाल किला की यात्रा, लाल किला का इतिहास, रेड फोर्ट की यात्रा, रेड फोर्ट का इतिहास, Red Fort, history of Red Fort
लाल किला के अंदर स्थित हमाम

नहर ए बहिश्त, लाल किला, रेड फोर्ट
नहर ए बहिश्त

नहर ए बहिश्त में कभी यमुना द्वारा जल पहुंचाया जाता था जिससे उसकी सुंदरता और बढ़ जाती थी तब इसकी सुंदरता देखकर ही शाहजंहा ने कहा था कि अगर धरती पर स्वर्ग कहीं है तो यंही है यंही है।

नहर ए बहिश्त, रेड फोर्ट
लाल किला के अंदर नहर ए बहिश्त

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Bitnami