ऋषिकेश में योग आश्रम परमार्थ निकेतन की यात्रा

परमार्थ निकेतन, आश्रम, ऋषिकेश, गंगा, गंगा आरती, parmath niketan, ganga aarti, aashram, sandhya aarti,

ऋषिकेश में अब 5 बज रहा था तो हम पैदल ही घूमते हुए स्वर्ग आश्रम पहुंचे। यंहा कई विश्व प्रसिद्ध आश्रम स्थित है। इनमें परमार्थ निकेतन आश्रम (Parmarth Niketan Aashram) प्रमुख है। यंहा इस समय अंतर्राष्ट्रीय योग महोत्सव (International Yoga Festival) का आयोजन चल रहा था जिसमें योग का प्रशिक्षण लेने आये अधिकतम विदेशी थे। मुझे यह देखकर आश्चर्य हुआ कि योग में अपने देश से अधिक विदेशी रुचि लेते है।

parmarth niketan aashram, yatra, trip, travel of rishikesh, tripyatra, uttrakhand, rishikesh, ganga, yoga, international yoga festival, ऋषिकेश, उत्तराखंड, उत्तराखण्ड, यात्रा, घुमना, घुमक्कडी, गंगा, योग,
परमार्थ निकेतन आश्रम का मुख्य प्रवेश द्वार

 

ऋषिकेश की यात्रा, परमार्थ निकेतन आश्रम की यात्रा, स्वामी चिदानंद सरस्वती, गंगा आरती, उत्तराखंड, उत्तराखण्ड, rishikesh, trip of rishikesh, rishikesh trip, uttrakhand, holiday, yog, international yoga festival,
गंगा नदी की तरफ से प्रवेश द्वार

परमार्थ निकेतन आश्रम में गंगा आरती

आश्रम इस समय स्वामी चिदानंद सरस्वती जी के द्वारा संचालित है और अंतरराष्ट्रीय रूप से काफी प्रसिद्धि प्राप्त कर चुका है। आश्रम काफी साफ सुथरा और विशाल है। आश्रम की हर इमारत और जगह का एक विशेष नाम है। आश्रम में एक गुरुकुल भी संचालित है जंहा वैदिक पद्धति से शिक्षा और पूजा पाठ का ज्ञान दिया जाता है। आश्रम के इन गुरुकुल में रहने वालों की वेशभूषा बड़ी मनोहर जान पड़ती है। यह सभी छात्र शाम के समय होने वाली गंगा आरती में एक स्वर से आरती का मधुर गायन करते है।

ऋषिकेश की यात्रा, उत्तराखंड, उत्तराखण्ड, घूमना, घुमक्कड़ी, गंगा आरती, परमार्थ निकेतन, आश्रम, ganga aarti, rishikesh, uttrakhand, rishikesh trip, travel of rishikesh, holiday trip
सांध्यकालीन हवन और पूजन

यंहा की शाम के समय होने वाली गंगा आरती काफी प्रसिद्ध है। जंहा रूक कर शाम के समय होने वाली भव्य गंगा आरती के साक्षी बने। गंगा आरती समारोह में देश और विदेश के काफी कलाकारों ने अपनी कला का प्रदर्शन किया। यंहा संगीत कला का आरती के समय काफी अच्छा प्रदर्शन किया गया।

परमार्थ निकेतन, ऋषिकेश, उत्तराखंड, उत्तराखण्ड, आश्रम, योग, गंगा आरती, गंगा नदी, Rishikesh, Uttrakhand, ganga aarti, ganga river, aashram, yoga
गंगा आरती
Parmarth niketan, aashram, ganga aarti, uttrakhand, yoga, ऋषिकेश, उत्तराखंड, उत्तराखण्ड, योग, गंगा आरती, गंगा नदी, शिव प्रतिमा
परमार्थ निकेतन में शिव प्रतिमा

गीता भवन

मां गंगा की भव्य आरती का आंनद लेने के पश्चात हम राम झूला की तरफ बाजार घूमते हुए चल दिये। परमार्थ निकेतन आश्रम से थोड़ी दूरी पर गीता भवन स्थापित है जो गीता प्रेस गोरखपुर द्वारा संचालित है। यंहा गीता प्रेस की औषधि इकाई द्वारा निर्मित कई गुणवत्तायुक्त औषधि आप खरीद सकते है। मैने बालों के लिए एक तेल,भृंगराज चूर्ण खरीदा। गीता भवन के अंदर एक मंदिर भी स्थित है जो दर्शनीय है।

अब समय लगभग आठ बज रहा था जिसके कारण बाजार जल्द ही बंद हो रही थे। कुछ ही समय में हम बाजार से निकलकर सुनसान रिहाइशी इलाके में आ गए जंहा सड़कों पर काफी सन्नाटा था जिसके कारण हमारी चलने की गति काफी तेज हो गयी। २० मिनट लगातार चलने के बाद राम झूला पार करते हुए हम मुख्य सड़क पर आ गए। जंहा से एक टेम्पों के द्वारा हम अपने होटल पहुंचे। वंही पास में ही स्थित होटल में खाना खाकर हम सो गए।

अगले दिन की हमारी योजना ऋषिकेश (Rishikesh) के मुख्य बाजार में घूमने और खरीदारी की थी लेकिन अगले दिन जैसे ही हम बाहर निकले तो पता चला कि बाजार की आज साप्ताहिक बंदी है जिससे हमारी सारी योजना धराशायी हो गयी।

त्रिवेणी घाट

हम फिर पास स्थित त्रिवेणी घाट पहुंचे। त्रिवेणी घाट में तीन नदियों का संगम माना जाता है। सुबह का समय और आसमान में बादल होने के कारण यंहा का नजारा बड़ा ही मनमोहक था सामने पर्वत और बहती हुई नदी की धारा। ऐसा लगता है कि यंहा आना सार्थक हो गया। यंहा मनमोहक प्रतिमाएं भी स्थापित है। हम करीब एक घंटे से ऊपर यंहा रुके और काफी देर तक फोटोग्राफी करते रहे। त्रिवेणी घाट का सूर्यास्त यानि शाम के समय की गंगा आरती काफी प्रसिद्ध है। इस समय यंहा काफी भीड़ होती है।

हमारी इच्छा थी कि हमारी ट्रेन एक या दो दिन के बाद बुक हो जाये जिससे हम और अधिक घूम सके लेकिन आगे की टिकट कन्फर्म नहीं बुक हो रही थी। फिर हमने यंहा से चलने का फैसला लिया और हरिद्वार स्टेशन के लिए चल दिए।

अगली पोस्ट में चर्चा होगी शांतिकुंज आश्रम और कनखल की जंहा दक्ष का यज्ञ विध्वंस हुआ था।

Parmarth niketan, aashram, ganga aarti, uttrakhand, yoga, ऋषिकेश, उत्तराखंड, उत्तराखण्ड, योग, गंगा आरती, गंगा नदी
गंगा नदी का घाट
Parmarth niketan, aashram, ganga aarti, uttrakhand, yoga, ऋषिकेश, उत्तराखंड, उत्तराखण्ड, योग, गंगा आरती, गंगा नदी, घंटाघर, स्तम्भ,
परमार्थ निकेतन आश्रम में घंटाघर
परमार्थ निकेतन, ऋषिकेश, उत्तराखंड, उत्तराखण्ड, गंगा नदी, यात्रा, ट्रिप, utttrakhand, trip, travel rishikesh, parmarth niketan,
विदेशियों द्वारा परमार्थ निकेतन के गंगा तट पर किया जाने वाला हवन
Sunset, rishikesh, uttrakhand, trip, travel, river ganga, ऋषिकेश, सूर्यास्त, उत्तराखंड, उत्तराखण्ड, ट्रिप, यात्रा, गंगा,
गंगा तट पर सूर्यास्त
ऋषिकेश, उत्तराखंड, उत्तराखण्ड, यात्रा, घुमक्कड़ी, ट्रिप, शिव, प्रतिमा, पर्यटन, Shiv, Statue, Pratima, Rishikesh, Uttrakhand, trip, travel, holiday,
त्रिवेणी घाट पर शिव पार्वती प्रतिमा
गीता, महाभारत, ऋषिकेश, उत्तराखंड, उत्तराखण्ड, यात्रा, ट्रिप, घुमक्कड़ी, पर्यटन, trip, travel, rishikesh holiday, rishikeah, uttrakhand, gita, mahabharat
कृष्ण अर्जुन को ज्ञान देते हुए
त्रिवेणी घाट, ऋषिकेश, उत्तराखंड, उत्तराखण्ड, पर्यटन, घुमक्कड़ी, घूमना, ट्रिप, विष्णु, triveni ghat, trip, travel, vishnu, rishikesh, uttrakhand, statue
त्रिवेणी घाट पर विष्णु भगवान की प्रतिमा
त्रिवेणी घाट, ऋषिकेश, उत्तराखंड, उत्तराखण्ड, ट्रिप, घुमक्कड़ी, घूमना, यात्रा, triveni ghat, rishikesh, uttarakhand, trip, travel, yatra, tripyatra
त्रिवेणी घाट पर मां गंगा की प्रतिमा
ऋषिकेश, उत्तराखंड, उत्तराखण्ड, घुमक्कड़ी, ट्रिप, यात्रा, पर्यटन, गंगा, पहाड़, पर्वत, प्रकृति, trip, travel, holiday, rishikesh, uttarakhand, ganga, pahad, parvat, mountain, tree, ghat, vikas, tripyatra
मै त्रिवेणी घाट पर
गंगा, त्रिवेणी घाट, ऋषिकेश, उत्तराखंड, उत्तराखण्ड, प्रकृति, यात्रा, घुमक्कड़ी, ट्रिप, triveni ghat, rishikesh, uttrakhand, holiday, trip, travel, mountain, nature
त्रिवेणी नदी में गंगा नदी की धारा

संस्मरण के पहले भाग यंहा पढ़े –

हरिद्वार ऋषिकेश यात्रा संस्मरण भाग 1 – माँ मंसा देवी और चंडी देवी के दर्शन

हरिद्वार ऋषिकेश यात्रा संस्मरण भाग 2 – हर की पौड़ी और ऋषिकेश की यात्रा

Leave a Reply